» Importance Of Green Bangles In Hariyaali Teej (हरियाली तीज में हरी चूड़ियों का महत्व)

Importance Of Green Bangles In Hariyaali Teej (हरियाली तीज में हरी चूड़ियों का महत्व)

Festival: Hariyali Teej

इस त्योहार में हरी चूड़ियां, हरा वस्त्र और मेंहदी का विशेष महत्व है। मेंहदी सुहाग का प्रतीक चिन्ह माना जाता है। इसलिए महिलाएं सुहाग पर्व में मेंहदी जरूर लगाती है। इसकी शीतल तासीर प्रेम और उमंग को संतुलन प्रदान करने का भी काम करती है।

ऐसा माना जाता है कि सावन में काम की भावना बढ़ जाती है। मेंहदी इस भावना को नियंत्रित करता है। हरियाली तीज का नियम है कि क्रोध को मन में नहीं आने दें। मेंहदी का औषधीय गुण इसमें महिलाओं की मदद करता है।

परिवार की खुशहाली

सावन में पड़ने वाली फुहारों से प्रकृति में हरियाली छा जाती है। सुहागन स्त्रियां प्रकृति की इसी हरियाली को अपने ऊपर समेट लेती हैं। इस मौके पर नई-नवेली दुल्हन को सास उपहार भेजकर आशीर्वाद देती है।

कुल मिलाकर इस त्योहार का आशय यह है कि सावन की फुहारें की तरह सुहागनें प्रेम की फुहारों से अपने परिवार को खुशहाली प्रदान करेगी और वंश को आगे बढ़ाएगी।

Fairs Around The World
India

GURU Gobind singh  was the tenth of the eleven sikh Gurus,He was a Warrior, Poet and Phil...

India

Shravan Jhula Mela is one of the major fair of Uttar Pradesh. The fair of Sravan Jhula is usua...

India

Varanasi is one of the most visited tourist spots in India. It is known for its beautiful ghat...

India

Kailash fair, Agra in Uttar Pradesh is a colorful carnival. India is a land of fairs and festi...

India

The Jwalamukhi fair is also held twice a year during the Navratri of Chaitra and Assiy. The de...

India

The Urs Fair is dedicated to Khwaja Moin-ud-din Chishti, the Sufi saint. It is organized on th...

India

Nagaur district is the land of fairs as they are not only cattle markets but in real terms a w...

Copyright © FestivalsZone. All Rights Reserved.