» Pitru Paksh: Festival of Faith on Ancestors (पूर्वजों के प्रति श्रद्धा का महापर्व)

Pitru Paksh: Festival of Faith on Ancestors (पूर्वजों के प्रति श्रद्धा का महापर्व)

Festival:

आश्विन कृष्णपक्ष की प्रतिपदा से अमावस्या तक पितरों का श्राद्ध करने की परंपरा है। पितृपक्ष अपने पूर्वजों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करने, उनका स्मरण करने और उनके प्रति श्रद्धा अभिव्यक्ति करने का महापर्व है। इस अवधि में पितृगण अपने परिजनों के समीप विविध रूपों में मंडराते हैं और अपने मोक्ष की कामना करते हैं। परिजनों से संतुष्ट होने पर पूर्वज आशीर्वाद देकर हमें अनिष्ट घटनाओं से बचाते हैं।

वास्तुविद डॉ. दीपक शर्मा ने बताया कि जिस तिथि में माता-पिता का देहांत हुआ है, उस तिथि में श्राद्ध करना चाहिए। पिता के जीवित रहते हुए यदि माता की मृत्यु हो गई हो तो उनका श्राद्ध मृत्यु तिथि को न कर नवमीं तिथि को करना चाहिए।

ज्योतिष मान्यताओं के आधार पर सूर्यदेव जब कन्या राशि में गोचर करते हैं तब हमारे पितर अपने पुत्र-पौत्रों के यहां विचरण करते हैं। विशेष रूप से वे तर्पण की कामना करते हैं। श्राद्ध से पितृगण प्रसन्न होते हैं और श्राद्ध करने वालों को सुख-समृद्धि, सफलता, आरोग्य और संतानरूपी फल देते हैं।

Fairs Around The World
India

Varanasi is the Sacred city for Hindus.  Ramlila festival is celebrated in great manner i...

India


The famed cattle fair is held at Sonepur, in Northern Bihar on the banks of the River...

India

Rambarat is one of the important festivals of Uttar Pradesh, the festival is mainly celebrated...

India

Kundri Mela held in Jharkhand is one of the very popular cattle fairs in the state. As a state...

India

The Bahu Mela is celebrated in honor of the Goddess Kali whose temple lies in the Bahu Fort. T...

India

The State of Rajasthan has so many attractions for tourists with its many palaces, temples and mo...

India

The Banganga Fair of Jaipur, Rajasthan takes place near a stream, approximately 11 km from the...

Copyright © FestivalsZone. All Rights Reserved.