» स्वतंत्रता दिवस पर गायी गई अटल बिहारी वाजपेयी जी की कविता
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के द्वारा ये कविता भारतीय स्वतंत्रता दिवस के लिए गायी गई थी।

पन्द्रह अगस्त का दिन कहता - आज़ादी अभी अधूरी है।

सपने सच होने बाक़ी हैं, राखी की शपथ न पूरी है॥

 

जिनकी लाशों पर पग धर कर आजादी भारत में आई।

वे अब तक हैं खानाबदोश ग़म की काली बदली छाई॥

 

कलकत्ते के फुटपाथों पर जो आंधी-पानी सहते हैं।

उनसे पूछो, पन्द्रह अगस्त के बारे में क्या कहते हैं॥

 

हिन्दू के नाते उनका दुख सुनते यदि तुम्हें लाज आती।

तो सीमा के उस पार चलो सभ्यता जहाँ कुचली जाती॥

 

इंसान जहाँ बेचा जाता, ईमान ख़रीदा जाता है।

इस्लाम सिसकियाँ भरता है, डालर मन में मुस्काता है॥

 

भूखों को गोली नंगों को हथियार पिन्हाए जाते हैं।

सूखे कण्ठों से जेहादी नारे लगवाए जाते हैं॥

 

लाहौर, कराची, ढाका पर मातम की है काली छाया।

पख़्तूनों पर, गिलगित पर है ग़मगीन ग़ुलामी का साया॥

 

बस इसीलिए तो कहता हूँ आज़ादी अभी अधूरी है।

कैसे उल्लास मनाऊँ मैं? थोड़े दिन की मजबूरी है॥

 

दिन दूर नहीं खंडित भारत को पुनः अखंड बनाएँगे।

गिलगित से गारो पर्वत तक आजादी पर्व मनाएँगे॥

 

उस स्वर्ण दिवस के लिए आज से कमर कसें बलिदान करें।

जो पाया उसमें खो न जाएँ, जो खोया उसका ध्यान करें॥

 

Fairs Around The World
India
Shattila Ekadashi...
India

The day of Kartik Purnima is often referred to as Raas Purnima in West Bengal when Raas Leelas...

India

Varanasi is one of the most visited tourist spots in India. It is known for its beautiful ghat...

India

The Vautha Fair is the very big Animals fair held in Gujarat,india. which was involve wholesom...

India

Gogamedi Fair is one of the important festivals locally celebrated to remember the Serpent God...

India

one of the most famous stories in Hindu Puranas, Renuka the wife of Rishi Jamdagni and mother ...

Ashok Ashtami fair is celebrated eighth day of the waxing moon period in the month of Chaitra. ...
Copyright © FestivalsZone. All Rights Reserved.