» Ahoi Ashtami

Ahoi Ashtami Dates

Ahoi Ashtami in 2013 »   27 October

Ahoi Ashtami in 2014 »   15 October

Ahoi Ashtami in 2016 »   22 October

Ahoi Ashtami Category: Festival
Celebrated In: India
Celebrated By: Hindu (Hindu)

 संतान की शुभता को बनाये रखने के लिये क्योकि यह उपवास किया जाता है. इसलिये इसे केवल माताएं ही करती है. एक मान्यता के अनुसार इस दिन से दीपावली का प्रारम्भ समझा जाता है. अहोई अष्टमी के उपवास को करने वाली माताएं इस दिन प्रात:काल में उठकर, एक कोरे करवे (मिट्टी का बर्तन) में पानी भर कर. माता अहोई की पूजा करती है. पूरे दिन बिना कुछ खाये व्रत किया जाता है. सांय काल में माता को फलों का भोग लगाकर, फिर से पूजन किया जाता है.

तथा सांयकाल में तारे दिखाई देने के समय अहोई का पूजन किया जाता है. तारों को करवे से अर्ध्य दिया जाता है. और गेरूवे रंग से दीवार पर अहोई मनाई जाती है. जिसका सांयकाल में पूजन किया जाता है. कुछ मीठा बनाकर, माता को भोग लगा कर संतान के हाथ से पानी पीकर व्रत का समापन किया जाता है. अहोई अष्टमी का महत्व इसकी कथा द्वारा प्रलक्षित होता है.

कथा अनुसार, प्राचीन काल में दतिया नगर में चंद्रभान नाम का एक साहूकार रहता था. उसकी बहुत सी संताने थी, परंतु उसकी संताने अल्प आयु में ही अकाल मृत्यु को प्राप्त होने लगती हैं. अपने बच्चों की अकाल मृत्यु से पति पत्नी दुखी रहने लगते हैं. कोई संतान न होने के कारण वह पति पत्नी अपनी धन दौलत का त्याग करके वन की ओर चले जाते हैं और बद्रिकाश्रम के समीप बने जल के कुंड के पास पहुँचते हैं तथा वहीं अपने प्राणों का त्याग करने के लिए अन्न जल का त्याग करके बैठ जाते हैं.

इस तरह छह दिन बीत जाते हैं तब सातवें दिन एक आकाशवाणी होती है कि, हे साहूकार तुम्हें यह दुख तुम्हारे पूर्व जन्म के पाप से मिल रह है अत: इन पापों से मुक्ति के लिए तुम्हें अहोई अष्टमी के दिन व्रत का पालन करके अहोई माता की पूजा अर्चना करना जिससे प्रसन्न हो अहोई मां तुम्हें पुत्र की दीर्घ आयु का वरदान देंगी. इस प्रकार दोनो पति पत्नी अहोई अष्टमी के दिन व्रत करते हैं और अपने पापों की क्षमा मांगते हैं. अहोई माँ प्रसन्न हो उन्हें संतान की दीर्घायु का वरदान देतीं हैं.

Ahoi Ashtami Dates

Ahoi Ashtami in 2013 »   27 October

Ahoi Ashtami in 2014 »   15 October

Ahoi Ashtami in 2016 »   22 October

World Trade Fair
India

Rambarat is one of the important festivals of Uttar Pradesh, the festival is mainly celebrated...

India

The Netaji Mela is held in the Karimganj district in Assam. This mela is spread over 15 days i...

India

The Bahu Mela is celebrated in honor of the Goddess Kali whose temple lies in the Bahu Fort. T...

India

Vaisakh Purnima, the birthday of Lord Buddha is celebrated with much religious fervor across m...

India


The famed cattle fair is held at Sonepur, in Northern Bihar on the banks of the River...

India

The Urs Fair is dedicated to Khwaja Moin-ud-din Chishti, the Sufi saint. It is organized on th...

India

Joranda Mela of Orissa has religious spirit associated with it. Joranda Mela is organized in J...

Copyright © FestivalsZone. All Rights Reserved.