» Importance Of Hariyali Teej (हरियाली तीज का महत्व)

Importance Of Hariyali Teej (हरियाली तीज का महत्व)

Posted On: 04 Jul, 2013| Festival: HARIYALI TEEJ

भगवान शिव और पार्वती के पुर्नमिलाप के उपलक्ष्य में मनाए जाने वाले इस त्योहार के बारे में मान्यता है कि मां पार्वती ने 107 जन्म लिए थे भगवान शंकर को पति के रूप में पाने के लिए। अंततः मां पार्वती के कठोर तप और उनके 108वें जन्म में भगवान ने पार्वती जी को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार किया। तभी से ऐसी मान्यता है कि इस व्रत को करने से मां पार्वती प्रसन्न होकर पतियों को दीर्घायु होने का आशीर्वाद देती हैं।

हरियाली तीज की पूजा विधि :

यह त्योहार वैसे तो तीन दिन मनाया जाता है लेकिन समय की कमी की वजह से लोग इसे एक ही दिन मनाते हैं। इसमें पतिव्रता पत्नियां निर्जला व्रत रखती हैं। हाथों में नई चूड़ियां, मेहंदी और पैरों में अल्ता लगाती हैं और नए वस्त्र पहन कर मां पार्वती की पूजा-अर्चना करती हैं।

यह व्रत केवल महिलाओं तक ही सीमित नहीं होता, बल्कि कई जगहों पर पुरुष मां की प्रतिमा को पालकी पर बैठाकर झांकी भी निकालते हैं।

- ‑सबसे पहले महिलाएं किसी बगीचे या मंदिर में एकत्रित होकर मां की प्रतिमा को रेशमी वस्त्र और गहने से सजाएं।

- ‑अर्धगोले का आकार बनाकर माता की मूर्ति बीच में रखें और माता की पूजा करें। सभी महिलाओं में से एक महिला कथा सुनाए, बाकी सभी कथा को ध्यान से सुनें व मन में पति का ध्यान करें और पति की लंबी उम्र की कामना करें।

 

World Trade Fair
India

Chitra-Vichitra Mela is a purely tribal fair that takes place in the Gumbhakhari village, whic...

India

Asia largest gifts & handicrafts trade fair. This journey to gifts trade fair in India wil...

India


Sita, the wife of Lord Ram, was left by Lakshman here to serve the period of her bani...

India

The ancient town of Pushkar is transformed into a spectacular fair...

India

Rambarat is one of the important festivals of Uttar Pradesh, the festival is mainly celebrated...

India

People of the village of Vithappa in Karnataka hold the Sri Vithappa fair in honor of the epon...

India


Bhadrapada Ambaji Mela is a multicultural fair where not only Hindus but people from ...

Copyright © FestivalsZone. All Rights Reserved.